Home SPORTS उमरान की स्पीड पर शोएब बोले- मेरा रिकॉर्ड तोड़ते-तोड़ते कहीं….

उमरान की स्पीड पर शोएब बोले- मेरा रिकॉर्ड तोड़ते-तोड़ते कहीं….

34
0
Umran, Shoaib
Umran, Shoaib

नई दिल्ली।  भारतीय तेज गेंदबाज उमरान मलिक (Umran Malik) ने आईपीएल 2022 में अपनी रफ्तार से हर किसी को चौंका दिया है। लगातार 150 प्लस की स्पीड से गेंदबाजी कर रहे उमरान जल्द टीम इंडिया के लिए खेलते हुए दिखाई दे सकते हैं। कई दिग्गजों का मानना है कि जम्मू कश्मीर का यह पेसर अब जल्द ही पाकिस्तान के दिग्गज तेज गेंदबाज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) का रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं।

सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेल रहे उमरान मलिक (Umran Malik)  आईपीएल 2022 में अब तक 157 किमी प्रति घंटे की स्पीड से भी गेंदबाजी कर चुके हैं, जोकि आईपीएल इतिहास की दूसरी सबसे तेज गेंद है। उमरान मलिक (Umran Malik)  की स्पीड को देखकर अब शोएब अख्तर को भी मिर्ची लगनी शुरू हो गई है।

शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने उमरान मलिक (Umran Malik)  की स्पीड के बारे में पहले तो कहा कि उन्हें खुशी होगी अगर भारतीय पेसर उनका रिकॉर्ड तोड़ता है तो। बाद में उन्होंने यह भी कहा कि उनका रिकॉर्ड तोड़ते-तोड़ते उमरान कहीं अपनी हड्डियां न तुड़वा लें।

Shoaib, Umran
Shoaib, Umran

अख्तर ने स्पोर्ट्सकीड़ा को दिए इंटरव्यू में कहा, ‘मेरे वर्ल्ड रिकॉर्ड को 20 वर्ष से अधिक हो चुके हैं। लोग इस बारे में मुझसे पूछते हैं तो मैं भी सोचता हूं कि कोई तो होगा जो यह रिकॉर्ड तोड़ेगा। मुझे खुशी होगी कि उमरान मेरा रिकॉर्ड तोड़ें। हां, लेकिन मेरा रिकॉर्ड तोड़ते-तोड़ते वह अपनी हड्डियां न तुड़वा बैठें (हंसते हुए) बस मेरी यही दुआ होगी। कहने का मतलब है कि यह फिट रहें।’

गावस्कर : श्रेयस अब स्वतंत्र रूप से कर सकते हैं बल्लेबाजी

रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से मशहूर अख्तर के नाम 161.3 kph की रफ्तार से गेंद फेंकने का वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज है। वहीं, उमरान ने हाल में आईपीएल 2022 के एक मुकाबले में 157 kph की रफ्तार से गेंद फेंकी थी, जो IPL इतिहास की दूसरी सबसे तेज गेंद थी। सनराइजर्स हैदराबाद का यह तेज गेंदबाज आईपीएल 2022 में लगातार 150+ की स्पीड से गेंदबाजी कर रहे हैं।

अख्तर ने कहा कि भारतीय टीम को आयरलैंड और साउथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज खेलनी है. ऐसे में उमरान मलिक चयनकर्ताओं के रडार पर जरूर होंगे। उन्होंने सलाह दी कि बीसीसीआई को उमरान मलिक जैसे तेज गेंदबाजों की देखरेख करनी होगी। अख्तर ने कहा कि उमरान को निश्चित करना होगा कि वर्कलोड बहुत ज्यादा नहीं हो।

भारत ने रचा इतिहास, 73 साल बाद थॉमस कप के फाइनल में पहुंची

Previous articleज्ञानवापी मस्जिद: कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच शुरू हुआ सर्वे
Next articleथॉमस कप फाइनल में उतरेगा भारत, जानिए किसके खिलाफ होगा मुक़ाबला